Microeconomics Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.El.Ed

0
85

Microeconomics Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.El.Ed

हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट Bedlessonplan.com पर | दोस्तों जैसा कि आप जानते है यह साइट आपको कई सब्जेक्ट्स के Lesson Plan In Hindi में Provide कराती है जो आपके लिए बहुत मददगार साबित होती है| आज हम आपके लिए Microeconomics का lesson Plan शेयर कर रहे है| जो कि Class 11, 12 के लिए है| Microeconomics एक इम्पोर्टेन्ट lesson Plan In Hindi है|  अगर आप भी Microeconomics का lesson plan In Hindi बनाना चाहते है तो आप इस पोस्ट की मदद से बना सकते है | यह एक discussion lesson Plan है| दोस्तों हमारी वेबसाइट B.Ed, Deled और सभी Teachers Traning course Avilable हैं तो आप सही जगह आए हैं यहां आपको विभिन्न Microteaching, Mega teaching, Discussion, Real School Teaching and Practice, and Observation Skill Lesson Plan दे रहे है |

सूक्ष्मअर्थशास्त्र सामाजिक विज्ञान है जो प्रोत्साहनों और निर्णयों का अध्ययन करता है, विशेष रूप से यह कि वे संसाधनों के उपयोग और वितरण को कैसे प्रभावित करते हैं। सूक्ष्मअर्थशास्त्र दिखाता है कि कैसे और क्यों अलग-अलग वस्तुओं के अलग-अलग मूल्य होते हैं, कैसे व्यक्ति और व्यवसाय कुशल उत्पादन और विनिमय का संचालन और लाभ करते हैं, और कैसे व्यक्ति एक दूसरे के साथ सर्वोत्तम समन्वय और सहयोग करते हैं। सामान्यतया, सूक्ष्मअर्थशास्त्र मैक्रोइकॉनॉमिक्स की तुलना में अधिक पूर्ण और विस्तृत समझ प्रदान करता है। व्यष्टि अर्थशास्त्र निर्णय लेने और संसाधनों के आवंटन में व्यक्तियों, परिवारों और फर्मों के व्यवहार का अध्ययन है।

प्रो. बोल्डिंग के अनुसार “व्यष्टि अर्थशास्त्र विशिष्ट फर्मे विशिष्ट परिवारों वैयक्तिक कीमतों मजदूरियों आयो विशिष्ट उद्योगों और विशिष्ट वस्तुओं का अध्ययन है।”

प्रो. चेम्बरलिन के अनुसार “व्यष्टि अर्थशास्त्र पूर्णरूप से व्यक्तिगत व्याख्या पर आधारित है और इसका संबधं अन्तर वैयक्तिक सबंधों से भी होता है।”

प्रो.जे.एम जोशी के अनुसार  “व्यष्टिभाव आर्थिक विश्लेषण का सम्बन्ध वैयक्तिक निर्णयन इकाईयों से है|”

एडविन मेन्सफील्ड के अनुसार  “व्यष्टि भाव अर्थशास्त्र वैयक्तिक इकाईयों जेसे उपभोक्ता ,फर्म ,साधन स्वमियो के आर्थिक क्रियाओ से सम्बन्ध है|”

हेंडरसन एवं क्वांट के अनुसार “व्यष्टि अर्थशास्त्र में व्यक्तिओ एवं व्यक्तिओ के ठीक से परिभाषित समूहों की आर्थिक क्रियाओ का अध्ययन किया जाता है|”

व्यष्टि अर्थशास्त्र के प्रकार – व्यष्टि अर्थशास्त्र 3 प्रकार का होता है| 

  • व्यष्टि स्थैतिकी
  • तुलनात्मक सूक्ष्म
  • स्थैतिकी तथा सूक्ष्म प्रोद्योगिकी

Microeconomics Lesson Plan 

  • कक्षा : 11
  • विषय : अर्थशास्त्र ( Economics )
  • उपविषय : Microeconomics
  • लेसन प्लान टाइप : मैक्रो / रियल टीचिंग / सिमुलेटेड टीचिंग / डिसकशन / स्कूल टीचिंग 
Date :  Duration Of The Peroid :
Pupils Teacher Name : Pupil Teacher’s Roll Number :
Class : Average Age Of the Pupils :
Subject : Topic :

 

विषय वस्तु विश्लेषण

  1. अर्थशास्त्र के मूल अंश
  2. व्यष्टिअर्थशास्त्र का क्षेत्र
  3. व्यष्टिअर्थशास्त्र के अध्ययन का महत्व

सामान्य उद्देश्य

  1. विद्यार्थियों में सृजनात्मक शक्ति का विकास करना|
  2. विद्यार्थियों के सामान्य ज्ञान में वृद्धि करना|
  3. विद्यार्थी का मानसिक विकास होता है|
  4. विद्यार्थियों में तर्क शक्ति का विकास करना|

विशिष्ट उद्देश्य –

ज्ञानात्मक उद्देश्य

  1. छात्रों को व्यष्टि अर्थशास्त्र की परिभाषा बताना|
  2. छात्रों को व्यष्टि अर्थशास्त्र का महत्व बताना|

बोधात्मक उद्देश्य –

  1. छात्रों को व्यष्टि अर्थशास्त्र के मूल के बारे में बताना|
  2. छात्रों को व्यष्टि अर्थशास्त्र के क्षेत्र से अवगत कराना|

प्रयोगात्मक उद्देश्य –

छात्रों को यह बताना कि व्यष्टि और समष्टि अर्थशास्त्र कहां प्रयोग होता है|

पूर्व ज्ञान – आपने पहले भी व्यष्टि अर्थशास्त्र के बारे में बताना|

पूर्व ज्ञान परीक्षण

छात्र अध्यापक क्रियाएं छात्र क्रियाएं
क्या जानते हैं कि अर्थशास्त्र के दो मूल अंश कौन-कौन से हैं? व्यष्टि अर्थशास्त्र व समष्टि अर्थशास्त्र
व्यष्टि अर्थशास्त्र का क्षेत्र कितना व्यापक है वह किस स्तर तक इसका हमारे जीवन में कितना महत्व है? समस्यात्मक
क्या आप व्यष्टि अर्थशास्त्र समष्टि अर्थशास्त्र में अंतर बता सकते हैं| समस्यात्मक

 

 

अनुदेशात्मक सामग्री

  •  सामान्य सामग्री – चौक, झाड़न, संकेतक, श्यामपट्ट
  • विशिष्ट सामग्री – चार्ट, श्यामपट्ट, पाठ्य पुस्तक

उपविषय की उद्घोषणा – तो आज हम व्यष्टि अर्थशास्त्र के मूल अंश के क्षेत्र के बारे में पढेंगे|

प्रस्तुतीकरण

शिक्षण छात्र अध्यापक क्रियाएं छात्र क्रियाएं श्यामपट्ट
अर्थशास्त्र के दो  मूल अंश अर्थशास्त्र के दो मूल भागों को बांटा गया है| व्यष्टि अर्थशास्त्र और समष्टि अर्थशास्त्र   अर्थशास्त्र के दो  मूल अंश

व्यष्टि अर्थशास्त्र

समष्टि अर्थशास्त्र

व्यष्टि अर्थशास्त्र व्यक्तिगत स्तर पर आर्थिक क्रियाओं का अध्ययन ही व्यष्टि अर्थशास्त्र है|    
समष्टि अर्थशास्त्र समस्त अर्थव्यवस्था के स्तर पर आर्थिक क्रियाओं का अध्ययन समष्टि अर्थशास्त्र है|    
क्षेत्र व्यष्टि अर्थशास्त्र का क्षेत्र इस प्रकार है –

1.   मांग के सिद्धांत

2.   उत्पादन के सिद्धांत

3.   कीमत निर्धारण

4.   साधन कीमत के सिद्धांत

   
मांग का सिद्धांत  व्यष्टि अर्थशास्त्र में यह अध्ययन किया जाता है कि किसी वस्तु की मांग कैसे निर्धारित होती है इसके अंतर्गत मांग के सिद्धांत का अध्ययन किया जाता है|   व्यष्टि अर्थशास्त्र के  क्षेत्र –

1.   मांग के सिद्धांत

2.   उत्पादन के सिद्धांत

3.   कीमत निर्धारण

4.   साधन कीमत के सिद्धांत

उत्पादन का सिद्धांत इस क्षेत्र में यह अध्ययन किया जाता है एक फर्म उत्पादन के साधनों को एकत्रित करके उत्पादन करती है कि एक उपभोक्ता अपनी निश्चित आय को बाजार मूल्य पर विभिन्न वस्तुओं में किस प्रकार बांटता है|   व्यष्टि अर्थशास्त्र का महत्व –

1.   अर्थशास्त्र की कार्यप्रणाली

2.   भविष्यवाणी

3.   आर्थिक नीतियां

4.   आर्थिक कल्याण

5.   प्रबंध संबंधी निर्णय 

कीमत निर्धारण का सिद्धांत  इस क्षेत्र में यह अध्ययन किया जाता है कि उत्पादित वस्तुओं को विभिन्न परिस्थितियों में खरीदा व बेचा जा सकता है| छात्र ध्यान पूर्वक सुनेंगे  
साधन कीमत सिद्धांत  इस क्षेत्र में यह अध्ययन किया जाता है कि साधन कीमत के निर्धारण तथा बंटवारे से संबंधित समस्याओं का अध्ययन किया जाता है    
व्यष्टि अर्थशास्त्र का महत्व व्यष्टि अर्थशास्त्र के महत्व का अध्ययन इस प्रकार है –    
अर्थशास्त्र की कार्यप्रणाली व्यष्टि अर्थशास्त्र के द्वारा एक अर्थव्यवस्था की कार्य प्रणाली का अध्ययन किया जाता है|    
भविष्यवाणी अर्थव्यवस्था के सिद्धांत भविष्यवाणी पर बनाए जाते हैं| यदि एक विशेष घटना घटी है तो उसके कुछ परिणाम निकलेंगे|    
आर्थिक नीतियां व्यष्टि अर्थशास्त्र का प्रयोग आर्थिक नीति बनाने के लिए किया जाता है कीमत नीति एक ऐसा उपकरण है जो इस कार्य में सहायक सिद्ध होते हैं| छात्र ध्यान पूर्वक सुनेंगे  
आर्थिक कल्याण व्यष्टि अर्थशास्त्र के द्वारा आर्थिक कल्याण की दशाओं का ज्ञान प्राप्त किया जा सकता है| छात्र ध्यान पूर्वक सुनेंगे  
प्रबंध संबंधी निर्णय व्यवसायिक फर्म व्यष्टि अर्थशास्त्र का अध्ययन प्रबंध संबंधी निर्णय लेने के लिए करते हैं|    

 

मूल्यांकन 

  • प्रश्न – व्यष्टि अर्थशास्त्र के क्षेत्र कौन-कौन से हैं?
  • प्रश्न – व्यष्टि अर्थशास्त्र का महत्व क्या है?
  • प्रश्न – व्यष्टि अर्थशास्त्र तथा समष्टि अर्थशास्त्र की परिभाषा बताइए?

 गृहकार्य

  1. व्यष्टि अर्थशास्त्र किसे कहते हैं? तथा इसका क्षेत्र क्या है|
  2. अर्थशास्त्र के महत्व पर प्रकाश डालिए?
  3. समष्टि अर्थशास्त्र से क्या अभिप्राय है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here