Mrida Mitti Ka Vargikaran Lessson Plan In Hindi : मृदा/ मिट्टी का वर्गीकरण पर लेसन प्लान

0
106

Mrida Mitti Ka Vargikaran Lessson Plan

हेल्लो दोस्तों कैसे है आप आशा है अच्छे होंगे| दोस्तों हर बार की तरह आज भी हम आपके लिए Economics का lesson Plan लेकर आये है | दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं हमारी वेबसाइट आपको B.Ed लेसन प्लान Provide कराती है | आज हम आपके लिए Soil (Mrida) का Lesson Plan In Hindi शेयर कर रहे हैं | Classification Of Soil , Social Science का Important Lesson Plan In Hindi है | दोस्तों अगर आपने अभी तक Social Science का Mrida/Mitti नहीं तैयार किया है तो आप हमारी वेबसाइट की मदद से तैयार कर सकते हैं | अभी तक हम आपके साथ हैं  Hindi, English, Economics, Science, Social Science आदि |

भारत देश में विभिन्न प्रकार की मिट्टी पाई जाती है| यहां की मिट्टी का सर्वेक्षण और जांच कई सरकारी और गैर सरकारी संगठनों ने किया है | भारत देश में मुख्यता पांच प्रकार की मिट्टी पाई जाती है | जलोढ़ मिट्टी, काली मिट्टी, लाल मिट्टी, लेटराइट मिट्टी ( बलुई मिट्टी ), रेतीली मिट्टी |

जलोढ़ मिट्टी – इस मिट्टी को दोमट मिट्टी के नाम से भी जानते हैं | यह जलोढ़ मिट्टी नदियों द्वारा लाई जाती है | यह  मिट्टी देश के पूरे उत्तरी मैदान में होती है | यह बहुत उपजाऊ होती है | उत्तरी भारत में जलोढ़ मिट्टी ही पाई जाती है |  

विशेषताएं – 

  • इस मिट्टी में खाद भरपूर मात्रा में होता है | जिसकी वजह से यह बहुत उपजाऊ होती है | 
  • यह मिट्टी नदियों के द्वारा जमा हुए तलछट से बनती है |
  •  इस मिट्टी का हर साल नवीनीकरण होता है |
  •  इस मिट्टी में चावल, गेहूं ,गन्ना आदि फसलें उगाई जा सकती हैं |

 काली मिट्टी –  काली मिट्टी नमी को बनाए रखता है | यह दक्कन लावा मार्ग पर इकट्ठा होती है | यह महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में होती है | इसमें चुना, मैग्नीशियम, लौह जैसे कई तत्व होते हैं| इसमें पोटाश बहुत कम मात्रा में होता है | इस मिट्टी में कपास की खेती बहुत अच्छी होती है |

लाल मिट्टी – लाल मिट्टी चट्टानों की कटी हुई मिट्टी होती है | यह मिट्टी ज्यादातर दक्षिण भारत में ज्यादा पाई जाती है | लाल मिट्टी के क्षेत्र महाराष्ट्र के दक्षिणी भाग में, मद्रास, आंध्र, मैसूर, मध्य प्रदेश के पूर्वी भाग में, उड़ीसा, झारखंड और पश्चिम बंगाल तक फैले हुए हैं |

विशेषताएं  –

  • यह मिट्टी दक्कन पठार की प्राचीन मैटमार्फ़िक चट्टानों के अपक्षय से बनती है | 
  • इस मिट्टी में पाया जाने वाला लाल रंग  इसमें मौजूद लौह तत्व के कारण होता है |जब इसकी मात्रा कम होती है तो इस कारण पीले से  भूरे रंग का होता है |
  • लाल मिट्टी तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उड़ीसा इन हिस्सों में पाई जाती है | इस मिट्टी में गेहूं, चावल, दाल, तिलहन, कपास की खेती की जाती है |

लेटराइट मिट्टी – लेटराइट मिट्टी  दक्षिणी प्रायद्वीप के दक्षिण पूर्व की ओर अधिक मिलते हैं | यह पतली पट्टी के रूप में पाए जाते हैं | इस मिट्टी  का विस्तार पश्चिम बंगाल से असम तक है |

विशेषताएं  –

  • लेटराइट मिट्टी का निर्माण निक्षालन के कारण होता है |
  • यह पहाड़ियों और  और उनकी चोटियों के बराबर पर अच्छी तरह से विकसित होती है |
  • यह मिट्टी आमतौर पर केरल, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, असम की पहाड़ियों पर ज्यादा पाई जाती है |
  • लेटराइट मिट्टी में कॉफी, चाय, नारियल, अखरोट उगाये जाते हैं |

रेतीली मिट्टी – यह मिट्टी थार प्रदेश में पंजाब के दक्षिणी भाग में और राजस्थान के कुछ भागों में मिलती है | यह मिट्टी राजस्थान के रेगिस्तानी क्षेत्रों में ज्यादा पाई जाती है | यह मिट्टी बहुत विकसित और उपजाऊ नहीं होती | इस मिट्टी में नमक की मात्रा बहुत ज्यादा होती है यहां वाष्पीकरण बारिश से ज्यादा होती है, जिसके कारण नमक की मात्रा ज्यादा होती है| यह मिट्टी रेतीली होती है और इसमे जैविक पदार्थों (organic matter) की कमी होती है। इस मिट्टी में गेहूं, बाजरा, मूंगफली आदि उगाया जा सकता है।

उद्दीपन परिवर्तन कौशल

छात्र अध्यापिका क्रियाएं छात्र क्रियाएं
बच्चों क्या आपको पता है कि भू पृष्ठ  की सबसे ऊपरी परत जिसमें पौधों को उगाया जाता है उसे क्या कहते हैं ?

कक्षा में चलते हुए

( संचलन )

 मृदा या मिट्टी
मृदा का निर्माण कैसे होता है ?

आवाज बदलते हुए

( स्वर में उतार-चढ़ाव )

मिट्टी वह असंगठित पदार्थों का मिश्रण है जिसमे मूल चट्टान व वनस्पति अंश मिले होते हैं | यह अपक्षय व अपरदन के कारण चट्टानों के टूटने से उनके चूर्ण से बनता है|
 मृदा के प्रकारों के बारे में आप कुछ बताओ बच्चों ?

अंतः क्रिया शैलियों में परिवर्तन

जलोढ़ मिट्टी

काली मिट्टी

लाल मिट्टी

लैटेराइट मिट्टी

 बच्चों जलोढ़ मिट्टी के बारे में आप कुछ बताइए ?

केंद्रण

(चार्ट की ओर संकेत करते हुए)

 इसे काँप मिट्टी भी कहते हैं | यह नदियों द्वारा बहाकर लाई जाती है और नदी घाटियों बाढ़ के मैदानों तथा डेल्टाई देशों में पाई जाती है|
 काली मिट्टी में किस फसल को उगाया जाता है ? इसका निर्माण कैसे होता है ?

छात्र अध्यापिका विद्यार्थियों को बोर्ड पर लिखने के लिए बुलाते हैं|

श्रव्य – दृश्य बदलाव व विद्यार्थियों की शारीरिक सहभागिता

इसे रेगर कहते हैं | इसमें कपास को उगाते हैं तथा इसका निर्माण ज्वालामुखी विस्फोट से होता है |
लाल मिट्टी का निर्माण कैसे होता है ?

शाबाश

इसका निर्माण प्राचीन खेदार तथा रूपांतरित चट्टानों के टूटने से होता है|
लैटेराइट मिट्टी में किस प्रकार के पौधे उगते हैं?

विराम

यह कम उपजाऊ होती है, इसलिए इसमें घास वाह झाड़ियां खूब उगते हैं|

 

निरीक्षण तालिका

टेलियाँ घटक रेटिंग स्केल
|| संचलन 0 1 2 3 4 5 6
| स्वर में उतार-चढ़ाव 0 1 2 3 4 5 6
| अंतः क्रिया शैलियों में परिवर्तन 0 1 2 3 4 5 6
| केंद्रण 0 1 2 3 4 5 6
| श्रव्य – दृश्य बदलाव 0 1 2 3 4 5 6
| विद्यार्थियों की शारीरिक सहभागिता 0 1 2 3 4 5 6

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here