Mudra Sfiti Ke Karan Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.El.Ed : मुद्रा स्फीति के कारण पाठ योजना

0
87

Mudra Sfiti Ke Karan Lesson Plan In Hindi : मुद्रा स्फीति के कारण पाठ योजना 

Hello Dosto स्वागत है आपका हमारी Bedlessonplan.com पर | दोस्तों आज हम Economics का Mudra Spiti Ke Karan B. Ed lesson plan In Hindi का महत्वपूर्ण topic लेकर आये है | जिन्होंने इकोनॉमिक्स विषय से B. ed, D.el.ed करना चाहते है | यह post B. ed, D.el.ed स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी साबित होगी |  Inflation Economics का Lesson plan बना सकते है | दोस्तों हमारी वेबसाइट B. Ed Lesson Plan और भी कई सब्जेक्ट्स के lesson plan Avilable कराती है | जैसे – Hindi, English, Science, Social Science, Geography, Economics, History आदि | दोस्तों आप Mudra Spiti (Inflation) Ke Karan Lesson Plan In Hindi बनाना चाहते है तो इस पोस्ट की मदद से तैयार कर सकते है |

मुद्रास्फीति किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में परिवर्तन होना बहुत आम प्रक्रिया है | अगर किसी देश की आर्थिक सामाजिक व राजनीतिक परिस्थितियों में लगातार परिवर्तन होता है, तो उस देश की अर्थव्यवस्था में परिवर्तन होता है और अर्थव्यवस्था में परिवर्तन होने से मुद्रा मूल्य प्रभावित होता है |मुद्रा मूल्य में परिवर्तन से कीमत के स्तर में परिवर्तन आता है  | मुद्रा मूल्य में हुए बदलाव से उपभोग, उत्पादन, विनिमय, नियंत्रण, वितरण, रोजगार, कीमत स्तर आदि को प्रभावित करते हैं | बदलाव अर्थव्यवस्था के लिए सुखद और दुखद दोनों हो सकते हैं| मुद्रास्फीति को दूसरी भाषा में मुद्रा प्रसार भी कहते हैं |

सामान्यता मुद्रा प्रसार बैंक या से सरकार द्वारा जरूरत से ज्यादा मात्रा में नोट निकालने से होता है, इससे मुद्रा इकाई की कीमत गिर जाती है तथा मूल्य स्तर ऊपर उठ जाता है | इस प्रकार की मुद्रास्फीति में मुद्रा की मात्रा बढ़ जाती है, जबकि वस्तुओं और सेवाओं की मात्रा घटती जाती है इससे सामान्य स्तर ज्यादा हो जाता है |मुद्रा के मूल्य में आई कमी और सामान्य मूल्य स्तर होने वाली वृद्धि को मुद्रास्फीति मान लेते हैं, लेकिन कीमत स्तर में होने वाली वृद्धि को मुद्रास्फीति नहीं कहते मूल्य में वृद्धि को मुद्रास्फीति की महत्वपूर्ण दशा होती है और मूल्य में प्रत्येक वृद्धि को मुद्रास्फीति नहीं मानना चाहिए | मांग और आपूर्ति में जब असंतुलन पैदा होता है, तो वस्तु और सेवाओं की  कीमतें बढ़ जाती हैं कीमतों में इस प्रकार की बढ़ोतरी को मुद्रास्फीति कहते हैं | 

मुद्रास्फीति को दो मूल्य सूचियों के आधार पर गणना करते हैं – थोक मूल्य सूचकांक, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 2 – 3 %की मुद्रास्फीति दर अर्थव्यवस्था के लिए बहुत अच्छी है, इससे ज्यादा की मुद्रास्फीति अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी नहीं होती | 

मुद्रास्फीति दो कारणों से होती है – मांग जनित कारक,  लागत जनित कारक 

 मांग जनित कारक – मांग जनित मुद्रास्फीति वह होती है जब मांग के बढ़ने से वस्तुओं की कीमतों में भी वृद्धि होती है लागू होती है जब उत्पादन के कारकों की लागत में इजाफा होता है और वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि होती है| 

मुद्रास्फीति के प्रभाव – निवेशकर्ताओ पर, निश्चित आय वर्ग पर, ऋणी औरऋण दाता पर,  कृषि पर, बचत पर भुगतान पर, कर पर, उत्पादक पर

Mudra Sfiti Ke Karan Lesson Plan

  • कक्षा : 9
  • विषय : अर्थशास्त्र ( Economics )
  • उपविषय : मुद्रा स्फीति के कारण
  • लेसन प्लान टाइप : मैक्रो / रियल टीचिंग / सिमुलेटेड टीचिंग / डिसकशन / स्कूल टीचिंग 
Date :  Duration Of The Peroid :
Pupils Teacher Name : Pupil Teacher’s Roll Number :
Class : Average Age Of the Pupils :
Subject : Topic :

 

विषय वस्तु विश्लेषण

  1. छात्रों को मुद्रा से अवगत कराना |
  2. छात्रों को मुद्रास्फीति के कारणों से अवगत कराना |

सामान्य उद्देश्य –

  1. छात्रों की तर्कशक्ति को बढ़ाना |
  2. छात्रों को मुद्रास्फीति के बारे में बताना |
  3. छात्रों की रचनात्मक शक्ति को बढ़ाना|

 विशिष्ट उद्देश्य

  • ज्ञानात्मक – छात्र मुद्रास्फीति के कारणों से परिचित हो जाएंगे|
  • बोधात्मक – छात्र मुद्रास्फीति के कारणों को अपने शब्दों में व्याख्या करने योग्य हो जाएंगे|
  • कौशलात्मक – विद्यार्थियों को वास्तविक जीवन में मुद्रास्फीति के कारणों का जाने का कौशल आएगा|
  • प्रयोगात्मक – विद्यार्थी मुद्रास्फीति की मात्रा में वृद्धि के कारण बता पाएंगे |

पूर्व ज्ञान – विद्यार्थी मुद्रास्फीति से परिचित हैं |

अनुदेशात्मक सामग्री

  • सामान्य सामग्री – चौक, झाड़न, संकेतक, श्यामपट्ट
  • विशिष्ट सामग्री चार्ट, श्यामपट्ट, पाठ्य पुस्तक

 पूर्व ज्ञान परीक्षण  

छात्र अध्यापक क्रियाएं छात्र क्रियाएं
जब मुद्रा का मूल्य कम होता है तो उसे क्या कहते हैं? मुद्रास्फीति
मुद्रा का मूल्य बढ़ने के क्या कारण है? 1.   उत्पादन की मात्रा कम होना |

2.   मुद्रा की मात्रा का अधिक होना |

 

उद्देश्य कथन – आज हम मुद्रास्फीति के कारणों का अध्ययन करेंगे |

 प्रस्तुतीकरण

शिक्षण छात्र अध्यापक क्रियाएं छात्र क्रियाएं श्यामपट्ट
मुद्रास्फीति का अर्थ प्रायः  कीमत में होने वाली निरंतर वृद्धि को ही मुद्रास्फीति कहा जाता है|

प्रश्न – मुद्रा के मूल्य में कमी होना क्या कहलाता है?

प्रश्न – मुद्रा के मूल्य में गिरावट किस वजह से आती है ?

मुद्रास्फीति मुद्रा के बढ़ जाने पर  
मुद्रास्फीति के कारण मुद्रास्फीति के लिए मुख्यतः दो प्रकार के कारण उत्तरदायी होते हैं|

1.   उत्पादन की मात्रा का कम होना |

2.   मुद्रा की मात्रा का अधिक होना|

   
मुद्रा की मात्रा अधिक होने के कारण प्रश्न – प्रकृति से हमें कौन-कौन सी धातु मिलती हैं ?

प्रश्न – मुद्रा की मात्रा अधिक करने हेतु  प्रकृति की क्या भूमिका होती है?

सोना, चांदी,  तांबा आदि

 

छात्र ध्यान पूर्वक सुनेंगे|

 
प्रश्न 1.   प्राकृतिक – जब किसी देश में धातुमान प्रचलित होता है उस देश में चांदी सोने की खानों का पता लगने पर इसकी मात्रा देश में अधिक हो जाती है| परिणामस्वरूप देश में मुद्रा का प्रसार बढ़ने पर मुद्रा स्थिति उत्पन्न हो जाती है|

2.   घाटे की वित्त व्यवस्था

प्रश्न – घाटे की वित्त व्यवस्था क्या है?

प्रश्न – घाटे की वित्त व्यवस्था हेतु सरकार क्या व्यवस्था करती है|

 

स्पष्टीकरण जब किसी देश में सरकार का सरकार की आय से कम रह जाता है तो सरकार इसे पूरा करने हेतु घाटे की वित्त व्यवस्था बनाती है ऐसी स्थिति में सरकार अपने घाटे को पूरा करने हेतु केंद्रीय बैंक से उधार की मांग करती है केंद्रीय बैंक इसकी पूर्ति बढ़ा कर देती है परंतु वस्तुओं व सेवाओं का उत्पादन उतना ना बढ़ने के कारण देश में कीमतें बढ़ने लगती हैं अर्थात मुद्रास्फीति की स्थिति उत्पन्न हो जाती है|

नए नोटों को साफ कर बजट के घाटे को पूरा करना ही घाटे की वित्त व्यवस्था है  
प्रश्न मौद्रिक नीति से क्या अभिप्राय है? यह वह नीति है जो मुद्रा कीमत मुद्रा की उपलब्धता तथा ब्याज की दर पर नियमन व नियंत्रण करती है|  
3. सरकार की साख व मौद्रिक नीति जब देश में विकास हेतु सरकार मुद्रा का निर्गमन कर देती है तो इससे मुद्रा की मात्रा बढ़ने से मुद्रास्फीति की स्थिति उत्पन्न हो जाती है|    

 

मूल्यांकन –

  1. मुद्रास्फीति के मुख्य कारण क्या है?
  2. घाटे की वित्त व्यवस्था मुद्रा स्थिति में किस प्रकार सहायक है?

गृहकार्य –

प्रश्न – मुद्रास्फीति के मुख्य कारण क्या है ?

प्रश्न – सोने व चांदी की नई खाने पता चलने मुद्रास्फीति कैसे उत्पन्न होती है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here