Sangya Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.EL.ED : संज्ञा व उसके भेद

0
173

Sangya Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.EL.ED : संज्ञा व उसके भेद

Hi Students, आज हम आपके लिए Sangya Lesson Plan In Hindi लेकर आये हैं | कल हमें Rohan Sharma ने Mail करके संज्ञा लेसन प्लान की Request की थी , इसलिए आज हम आपको Sangya Lesson Plan In Hindi लेकर आये हैं |

  • Class : 6th Class
  • Subject : Hindi Grammar
  • Topic : Sangya Lesson Plan

Sangya (संज्ञा) Lesson Plan In Hindi For B.Ed / D.EL.ED

Date :  Duration Of The Peroid :
Pupils Teacher Name : Pupil Teacher’s Roll Number :
Class : Average Age Of the Pupils :
Subject : Topic :
         शिक्षण बिंदु   छात्राध्यापक क्रियाएं    छात्र क्रियाएं   श्यामपट्ट कार्य
सहायक सामग्री – चाक, श्यामपट्ट, झाड़न, संकेतक आदि|

सामान्य उद्देश्य –

  • छात्रों की मानसिक शक्ति का विकास करना|
  • छात्रों की मौखिक तथा लिखित रूप से भाव व्यक्त करने की क्षमता को उजागर करना|
  • बच्चों में श्रवण, लेखन, वाचन, पठन, आदि कौशलों का विकास करना|

विशिष्ट उद्देश्य –

ज्ञानात्मक उद्देश्य – बच्चों के ज्ञान में वृद्धि करना तथा बच्चों को संज्ञा के बारे में परिचित कराना |

प्रयोगात्मक उद्देश्य – बच्चों को संज्ञा की परिभाषा, भेद, और उदाहरण को बताना |

बोधात्मक उद्देश्य – बच्चों को कठिन शब्दों का अर्थ बताना |

कौशलात्मक उद्देश्य – संज्ञा को मौखिक एवं लिखित रूप में समझाना

संज्ञा किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं|

जैसे – राम, दिल्ली, टेबल, बुढ़ापा, बचपना आदि|

रमेश कल दिल्ली जाएगा

इस वाक्य में स्थान है दिल्ली तथा व्यक्ति रमेश है यह दोनों शब्द ही संज्ञा है|

संज्ञा – रमेश, दिल्ली, बुढ़ापा, पर्वत, मनुष्य आदि
    संज्ञा के भेद संज्ञा के प्रायः तीन भेद होते हैं|

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • जातिवाचक संज्ञा
  • भाववाचक संज्ञा
  व्यक्तिवाचक संज्ञा जिस शब्द से किसी एक व्यक्ति, वस्तु अथवा स्थान का बोध होता  है उसे हम व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे – राम, मोहन, दिल्ली, गंगा, हिमालय आदि|

  जातिवाचक संज्ञा जिस शब्द से किसी एक ही प्रकार की जाति का बोध हो उसे हम जातिवाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे – मनुष्य, पशु, वृक्ष, नदी, पर्वत, बगीचा, कवि इत्यादि|

  भाववाचक संज्ञा जिस संज्ञा शब्द से किसी व्यक्ति या पदार्थ की दशा, गुण, दोष आदि का बोध होता है उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे-  सत्य, न्याय, प्रेम, दया, बुढ़ापा, लंबाई, घबराहट, मिठास इत्यादि|  उदाहरण –

गुण के नाम – भलाई, बुराई, मोटाई इत्यादि

दया के नाम – लड़कपन, दरिद्रता, धनी इत्यादि

भाव के नाम- दयालु, क्रोधी, मोह, बुढ़ापा इत्यादि

भाववाचक संज्ञा-बुढ़ापा,मित्रता

पुनरावृति

संज्ञा किसे कहते हैं? तथा उनके भेदों के नाम बताएं|

संज्ञा के सभी भेदों के  दो दो उदाहरण दें|

OBSERVATION SCHEDULE

S. No. Components Rating
1. व्याकरणीय शुद्धता 0, 1, 2, 3, 4, 5
2. विशिष्टता 0, 1, 2, 3, 4, 5
3. आवाज 0, 1, 2, 3, 4, 5
4. विविध प्रश्न 0, 1, 2, 3, 4, 5

 

दोस्तों , अगर आप किसी और Topic पर B.Ed / D.EL.ED Lesson Plan चाहते हैं तो आप हमें नीचे Comment Box में अपना टॉपिक जरुर बताये | साथ ही अगर आपका हमारे लिए कोई सुझाव या प्रश्न है तो भी आप अपना सुझाव Comment Box में जरुर लिखें, हमें आपके प्रश्नों का जवाब देने में ख़ुशी होगी| अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी यह पोस्ट : संज्ञा व उसके भेद : Sangya Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.EL.ED For B.Ed / D.EL.ED पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here